Monday, 17 February 2014

ईमान

ईमान का भाव गिर गया है

खरीद लीजिए ।

हमें कौन सा रखना है सम्भालकर,

भाव बढ़ते ही

बेच दीजिए ।

No comments:

Post a Comment